पुलिस के शिकंजे में आया केबल चोर गिरोह, 7 बदमाश गिरफ्तार, जेसीबी और ट्रक भी बरामद - Dainik Navajyoti
Dainik Navajyoti Logo
Sunday 17th of February 2019
Home   >  Rajasthan   >   News
राजस्थान

पुलिस के शिकंजे में आया केबल चोर गिरोह, 7 बदमाश गिरफ्तार, जेसीबी और ट्रक भी बरामद

Sunday, February 10, 2019 00:35 AM

पुलिस गिरफ्त में केबल चोरी गिरोह के सदस्य
अजमेर। फिल्मी अंदाज में पेशेवर तरीके से करीब 35 लाख रुपए कीमत की आॅप्टीकल फाइबर केबल चोरी कर ले जाने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने उसके 7 सदस्यों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। चोरी में प्रयुक्त जेसीबी एवं ट्रक भी बरामद कर लिया गया है।
 
गिरफ्तार किए गए आरोपियों में शामली, (उत्तर प्रदेश) स्थित गांव सलफा निवासी शाजिद पुत्र रघुवीरा, गांव हिंड निवासी अबरार पुत्र मोहर्रम अली, गांव सिक्का निवासी शहजाद मंसूरी पुत्र श्मशाद व उसका भाई आजाद मंसूरी, कुशाल पार्क, कादरी मस्जिद के पास, गाजियाबाद निवासी मेहरबान मंसूरी उर्फ मामू पुत्र नाजर, गांव नाड़का, रामगढ़, अलवर निवासी नवीन उर्फ नबी खां व शाकिर पुत्र भूरे खां शामिल हैं। इनमें से नवीन उर्फ नबी तथा शाकिर को पुलिस ने रिमाण्ड पर लिया है। जिला पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप सिंह के मुताबिक गिरोह के कई सदस्यों की गिरफ्तारी अभी बाकी है। गिरोह ने डाक बंगले से लेकर रोडवेज बस स्टैण्ड तक भूमिगत डली हुई बीएसएनएल की 4-4 मीटर लम्बी 4 सौ पेयर की 3 तथा 8 सौ पेयर की 2 आॅप्टीकल फाइबर केबलें चोरी कर पुलिस को चुनौती दी थी। यह घटना अभय कमाण्ड सेंटर के कैमरों में दर्ज हो गई थी। सुबह बीएसएनएल के अधिकारियों से घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस ने जब कैमरों में दर्ज क्लिपिंग देखी तो चोर गिरोह पूरी तरह से पेशेवर तरीके से बीएसएनएल के अभियंता व कर्मचारियों अथवा किसी ठेका फर्म के अभियंता व कर्मचारियों की तरह हैलमेट रिफ्लेटिंग जैकेट एवं अन्य उपकरणों लैस होकर बाकायदा जेसीबी की मदद से केबलें खोदते और निकाल कर उन्हें काट कर साथ लाए गए ट्रक में रखते हुए नजर आए। 
 
 
इस तरह तलाशा चोरों को 
पुलिस ने ट्रक के नम्बरों के आधार पर गिरोह की तलाश शुरू की। मुखबिरों को सक्रिय कर दिया गया। रात्रिकालीन गश्त के पुलिसकर्मियों व चौकीदारों से भी पूछताछ की गई। जिससे पुलिस को जेसीबी के बारे में भी अहम सुराग लगा। जिस पर पुलिस ने जेसीबी चालक शाकिर व उसके भाई नवीन उर्फ नबी खां को धर लिया। वह दोनों यहां ईदगाह कॉलोनी, चौरसियावास रोड पर रहते हैं। उधर, ट्रक के नम्बर यू.पी.17-टी.1574 का पता लगा कर एक पुलिस दल उत्तर प्रदेश पहुंच गया। वहां पता चला कि ट्रक फायनेंस हुआ है। तब उस कंपनी के कर्मचारियों से ट्रक मालिक के बारे में मालूम कर पुलिस ट्रक चालक अबरार तक पहुंची। वहां उसे हिरासत में लिया गया और ट्रक भी पकड़ लिया गया। इसी बीच पुलिस दल ने सरगना शहजाद को भी धर लिया। बाकी दो आरोपी साजिद व मेहरबान भी पकड़ लिए गए। 
 
इस तरह की वारदात
उन्हें यहां लाकर पूछताछ करने पर पुलिस को पता चला कि वारदात से पहले शहजाद ने गिरोह के अन्य सदस्यों गयूर, नसीम व मंजूर के साथ 25 व 26 जनवरी को घटना स्थल की रैकी की थी। उसके बाद वह लोग कार में सवार होकर और अबरार ट्रक लेकर 2 फरवरी की सुबह अजमेर पहुंचे। यहां रात 8.30 बजे पूरी तरह से पेशेवर तरीके से लैस होकर घटनास्थल पर एकत्र हो करके वारदात अंजाम देना तय किया। समय पर सभी वहां पहुंच गए और रात करीब 11 बजे उन्होंने मजदूरों के साथ मिल कर केबलें चोरी करना शुरु कर दिया। वारदात अंजाम देकर केबलें ट्रक में लोड करके लोनी, उत्तर प्रदेश के लिए रवाना करा दीं। इस ट्रक में अबरार के साथ शहजाद गया। साथ ही शमशाद, इसराइल रहीस, मंजूर व नसीम साथ लाए मारुति स्विफ्ट कार से रवाना हुए। जबकि मजदूरों को ट्रेन से रवाना कर दिया गया था। मजदूर भी उत्तर प्रदेश से ही लाए गए थे। 
 
सभी हार्डकोर बदमाश 
सिंह के अनुसार गिरोह पेशेवर तरीके इस तरह की केबलें चोरी का काम करता है और उनमें से ताम्बा निकाल कर बेचता है। गिरोह के सभी सदस्य हार्डकोर अपराधी हैं। इन्हें उत्तर प्रदेश से पकड़ कर लाने में पुलिस को भारी मशक्कत करनी पड़ी थी। इनके बाकी साथियों की तलाश भी जारी है। साथ ही चोरी गई केबलों की बरामदगी के प्रयास भी किए जा रहे हैं। फौरी पूछताछ में गिरोह ने धूलिया गांव, महाराष्ट्र, राजपुरा, पटियाला, लूनी, गाजियाबाद, बिजनौर रोडवेज बस स्टैण्ड (उत्तर प्रदेश) सहारनपुर, पाली और अजमेर की वारदात तो कबूल की है। आरोपियों से उनके गिरोह के अन्य सदस्यों तथा चोरी गई केबलें बरामद करने के लिए पूछताछ की जा रही है। जल्द ही चोरी गई केबलें बरामद करने के साथ ही पुलिस गिरोह के अन्य सदस्यों को भी दबोच लेगी।
 
इनकी रही मुख्य भूमिका 
सिंह के मुताबिक गिरोह को दबोचने में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (शहर) सरिता सिंह, पुलिस उप अधीक्षक (उत्तर) जिनेन्द्र जैन, तत्कालीन सिविल लाइंस थाना प्रभारी सुनील चारण, एएसआई रामनारायण दीवान अर्जुनराम, राजाराम, रणवीर सिंह, रामलाल, पूरासामस सिपाही राजू गौरान, राजकुमार, पवन कुमार, भीम सिंह तथा साईक्लोन सेल प्रभारी एसआई विजय सिंह, एएसआई जगमाल, सिपाही हिम्मत सिंह व मुकेश की मुख्य भूमिका रही। 

Other Latest News of Rajasthan -

गुर्जर आंदोलन से ट्रेनों का संचालन प्रभावित, कई रद्द, कुछ को किया डायवर्ट

प्रदेश में गुर्जर आंदोलन के चलते ट्रेनों का संचालन प्रभावित हो रहा है। इसके चलते यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

11 Feb 09:45 AM

किरोड़ी बैंसला ने कहा, रेलवे ट्रैक पर ही करेंगे वार्ता, सरकार जरूर देगी 5 प्रतिशत आरक्षण

गुर्जर आंदोलन के चलते राज्य सरकार पूरी तरह अलर्ट मोड पर है। प्रदेश में गुर्जर आरक्षण आंदोलन का सीएम अशोक गहलोत ने पूरा फीडबैक लिया है।

11 Feb 09:35 AM

असामाजिक तत्वों की जांच होगी

गुर्जर आरक्षण आंदोलन के दौरान धौलपुर जिले में हुए उपद्रव मामले पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है

11 Feb 09:25 AM

हिंसक हुआ गुर्जर आंदोलन, धौलपुर में पुलिस की 3 गाड़ियों में लगाई आग

धौलपुर में भी रविवार को गुर्जर आंदोलन की आग भड़क गई। इसे लेकर गुर्जर समाज के लोगों ने हाईवे पर मचकुंड चौराहे के पास जाम लगा दिया।

11 Feb 09:20 AM

गुर्जर आंदोलनकारियों ने अजमेर में किया डांस, हाइवे पर बनाई चाय

गुर्जर आरक्षण आंदोलन की आंच अब अजमेर भी पहुंच गई है। अजमेर के निकट ग्राम नारेली के बाहर जयपुर-ब्यावर नेशनल हाईवे संख्या आठ पर रविवार को गुर्जरों ने दो घंटे तक जाम लगाया।

10 Feb 00:40 AM