दैनिक नवज्योति की चुनावी यात्रा ने झुंझुनं के विधानसभा क्षेत्र में पहुंचकर जाना जनता का मन - Dainik Navajyoti
Dainik Navajyoti Logo
Friday 16th of November 2018
Home   >  Rajasthan electon news 2018   >   News
मेरा मुद्दा-2018

दैनिक नवज्योति की चुनावी यात्रा ने झुंझुनं के विधानसभा क्षेत्र में पहुंचकर जाना जनता का मन

Sunday, November 04, 2018 10:50 AM

झुंझुनूं। दैनिक नवज्योति की चुनावी यात्रा का मेरा मुद्दा कार्यक्रम के तहत शनिवार को झुंझुनूं जिले की चिड़ावा, सूरजगढ़ और पिलानी विधानसभा क्षेत्र में पहुंचकर स्थानीय मुददों पर लोगों और जनप्रतिनिधियों की राय जानी। इन क्षेत्रों में प्रमुखता से पानी का मुद्दा हावी रहा। इसके अलावा तीनों जगह सरकारी कॉलेज सहित सड़क, बिजली, पानी सहित कई मुद्दे सामने आए। खास बात यह रही कि तीनों जगह युवाओं ने राजनीति में बदलाव की जरूरत बताई।

पत्थर वाले बाबा पर युवाओं ने जताया आक्रोश
उदयपुरवाटी विधानसभा क्षेत्र में स्थानीय विधायक शुभकरण चौधरी के कार्यकाल पर मिली जुली प्रतिक्रिया नजर आई। कुछ लोगों ने विधायक को पत्थर वाले बाबा कहकर संबोधित करते हुए कहा कि विकास कार्य के नाम पर क्षेत्र में सिर्फ चहेतों को फायदा पहुंचाया गया है। लोगों ने यहां प्रमुख रूप से पीने के पानी की समस्या को उजागर किया। इसके अलावा यहां सरकारी कॉलेज और किसानों के मुद्दे छाए रहे। लोगों ने बताया कि यहां आपराधिक गतिविधियां बड़ा विषय हैं और कुछ इलाकों को हाशिए पर रखा गया और विधायक पर द्वेषपूर्ण राजनीति करते हुए जाति आधार पर काम करने के आरोप लगाए। लोगों ने कहा कि क्षेत्र में जो पानी पहुंचाएगाए हम उसे वोट देंगे। यहां कुंभाराम केनाल प्रोजेक्ट केवल चुनावी झुंझुना बनकर रह गया है। कांग्रेस जनप्रतिनिधियों ने दावा किया कि हमारी सरकार आते ही पानी की समस्या का प्राथमिकता से हल किया जाएगा और महिला सुरक्षा पर विशेष काम किए जाएंगे। बालिका शिक्षा पर बड़ा फोकस रहेगा।

भाजपा के जनप्रतिनिधियों ने कांग्रेस के आरोपों को झूठा बताते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने यहां खूब विकास कार्य कराए और दलाल राज खत्म कर ईमानदारी से काम हुए हैं। विधायक ने विधानसभा में किसानों से जुडे मुद्दों को सबसे ज्यादा उठाया है। कुछ लोगों ने आरोप लगाए कि यहां लोगों को धर्म जाति के नाम पर लड़ाया गया है और चिकित्सा व्यवस्था चरमराई हुई है। युवाओं ने अपनी राय में कहा कि केवल पत्थर लगाने से विकास नहीं होता। पत्थर वाले बाबा ने बेरोजगारों से छलावा किया और यहां लघु उद्योग भी नहीं लगने दिए। पिछले 15 साल से क्षेत्र में गुंडाराज चल रहा है और अब युवाओं को राजनीति में आकर समस्याओं से जूझना चाहिए। सभी पार्टियां युवाओं को मूर्ख बनाती हैं। बहस में भाजपा नेता गिद्धाराम सैनी, नितेश, जतनकिशोर सैनी, श्रवण सिंह शेखावत, सुशील सिंहए देवकरण चौधरी,  सुनील गोदारा, कांग्रेस नेताओं में मंगलचंद सैनी, सुमित्रा सैनी, सुमन कुलहरि, एडवोकेट श्यामलाल सैनी, कमल डांडिया, प्रकाश सैनीए श्यामलाल, अमितएसीपीआईएम नेता मूलचंद खरेडा, अजय तसीड, बसपा के जीतेन्द्र राठी सहित ताराचंद नागल, सैयद अली, माहिर खान आदि ने भाग लिया।

सूरजगढ़ : काम तो हुए मगर विधायक क्षेत्र से गायब रहे
सूरजगढ़ विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस के श्रवण कुमार विधायक हैं। कांग्रेस समर्थक क्षेत्र में उनके काम से खुश हैं और भाजपा इन कामों पर अपनी सरकार की मुहर लगा रही है। स्थानीय लोगों ने विधायक पर क्षेत्र से गायब रहने और बिजनेसमैन की छवि बनाए रखने के आरोप लगाए। भाजपा नेताओं ने कहा कि यहां भाजपा को कम समय मिला लेकिन उस वक्त का काम ही लोगों को याद आ रहा है स्थानीय विधायक ने तो विधानसभा में सरकारी कॉलेज की मांग आज तक नहीं उठाई; यदि जनता ने भाजपा को मौका दिया तो यहां किसानों के मुददे, आवारा व निराश्रित पषुओं की समस्या, सड़क, पानी, गंदे पानी की निकासी आदि पर काम किया जाएगा। यहां हए विकास कार्यो में स्थानीय विधायक का कोई योगदान नही है; वहीं कांग्रेस नेताओं ने कहा कि अगर विधायक ने यहां काम नहीं किए होते तो जनता बार-बार मौका क्यों देती। भाजपा की केन्द्र और राज्य में सरकार होने के बावजूद यहां सरकारी कॉलेज नहीं बन पाया। स्थानीय लोगोंं ने बस स्टैण्ड रोड की कमी और कच्चे रास्तों से निजात नहीं मिलने की बात कही।

गौरव पथ नहीं बने है और समर्थन मूल्य पर फसल खरीद की व्यवस्था भी क्षेत्र में ठीक नही है; आम आदमी पार्टी के नेताओं ने भाजपा और काग्रेस नेताओं पर जनता को गुमराह करने के आरोप लगाए; यहां महिला डॉक्टरों की कमी और गंदे पानी की समस्या के अलावा रेलगाडियों के ठहराव की समस्या भी बडी है; स्थानीय लोगों ने कहा कि राजनीतिक पार्टियां सूरजगढ में मूलभूत सुविधाओं पर ध्यान देने की जगह सिर्फ वोटों की राजनीति करने में जुट गई है; बहस में भाजपा नेता सुरेन्द्र चेटीवाल, क्रष्ण यादव, सुरेन्द्र चौहान,कांग्रेस नेता राजकुमार राठी, लियाकत पठान, आप पार्टी के दुर्गा प्रसाद यादव सहित ब्रजमोहन तुलस्यान, पालीराम मुंषी, षंकरलाल सोनी, कपिल शर्मा, संजय गोयल, विनय पाण्डे, उमेद कुमावत आदि ने हिस्सा लिया;

नवलगढ़ : युवाओं ने जताई राजनीतिक बदलाव की चाहत
नवलगढ़ विधानसभा सीट पर भी इस बार रोचक राजनीतिक लड़ाई देखने को मिलेगी। यहां से निर्दलीय विधायक राजकुमार शर्मा के कार्यों पर कुछ लोगों ने संतोष जताया तो भाजपा कांग्रेस ने अपने अपने कार्यकाल में हुए कामों को विकास का आधार बताया। कांग्रेस नेता सुरेश चौधरी और तारा पूनिया ने कहा कि हमारी सरकार आते ही हम किसानों के विकास के लिए काम करेंगे।

खेतों में तारबंदी करके बेरोजगारों को भत्ता दिलाने की व्यवस्था करेंगे। यहां गंदे और बरसाती पानी की समस्या का भी निदान किया जाएगा और सेटेलाईट अस्पताल की मांग भी पूरी की जाएगी। यहां टूटी सडकों, पानी, अस्पताल, आवारा पशुओं की समस्या का निदान होगा। भाजपा नेताओं ने कहा कि इस क्षेत्र में विकास कार्य भाजपा सरकार  की देन है और विकास कार्यों की दम पर ही इस सीट पर जीत दर्ज करेंगे। बसपा जनप्रतिनिधियों ने कहा कि स्थानीय विधायक ने बसपा को 2008 में धोखा दिया था और लोग यहां फिर से बसपा में भरोसा जताया है। युवाओं ने भाजपा और कांग्रेस पार्टियों पर स्वार्थ की राजनीति करने के आरोप लगाते हुए कहा कि यहां युवाओं और बेरोजगारों के लिए कुछ नहीं किया गया। हवेलियों को तोडकर कॉम्पलेक्स बना दिए गए और जनता ने इस बार परिवर्तन का मानस बना लिया है।

बहस में कांग्रेस नेता सुरेश चौधरी, तारा पूनिया, शुभिता सिगड, अनोखा सैनी, भाजपा नेता ओमेन्द्र सहारण, मोहनलाल सैनी, फूलचंद सैनी, बसपा के रामवतार नारनौलिया, आप पार्टी के विजेन्द्र सिंह डोटासरा के अलावा गजानन्दसैनी, बजरंग दल के अमित सैनी, पार्षद प्रकाश गुर्जर, दिनेश पटवारी, नरेश सैनी, राजकुमार चाहर, शिवलाल मुहाल, राजेन्द्र सैनी, मनीष विश्नोलिया, सुनील ढाणिंया, श्रवण सुरेखा, रमेश दीक्षित आदि ने भाग लिया।

झुंझुनूं : राजनीतिक पार्टियों की सामाजिक मुद्दों से बनी दूरी
झुंझुनू विधानसभा सीट पर भी इस बार सियासी समीकरण काफी रोचक नजर आ रहे हैं। यहां वर्तमान में कांग्रेस के बिजेन्द्र ओला विधायक हैं। क्षेत्र में मेडिकल कॉलेज, एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी, खराब सडकÞें मुख्य मुद्दा हैं। बहस में कांग्रेस नेताओं ने कहा कि यहां विपक्ष का विधायक होने के कारण सरकार ने सौंतेला व्यवहार किया और देश को बडेÞ-बडेÞ उद्योगपति देने वाले यह शहर आज विकास में पिछड़ गया है।

शहर को मेडिकल कॉलेज आज तक नहीं मिला और कांग्रेस सरकार में यहां खूब काम हुए। वर्तमान सरकार तो कांग्रेस के समय की योजनाओं को राजनीतिक द्वेषता से बंद करने में लगी हुई है। यहां भाजपा ने केवल भाई को भाई से लड़ाया और विकास के नाम पर आंखें मूंद ली। यहां पानी की भी प्रमुख समस्या है। भाजपा नेताओं ने दावा किया कि राज्य सरकार ने यहां खूब विकास कार्य कराए। मुख्यमंत्री ने शेखावाटी की मांगों पर सोच समझकर फैसले लिए और इसी वजह से पिछले चार महीनों से कुंभाराम नहर का पानी शहर को मिल रहा है। क्षेत्रीय विधायक तो यहां ढूंढ़ने से भी नहीं मिलते।

सीपीएम नेताओं ने कहा कि हम झुंझुनूं जिले में पांच सीटों पर चुनाव लडकÞर भाजपा के कुराज से जनता को मुक्ति दिलाने की कोशिश करेंगे। इस राज में जनता पर हुए अत्याचारों पर कांग्रे पार्टी भी पांच साल तक चुप रही। अब जनता को तीसरा मोर्चा की सरकार की जरूरत है। समाजसेवी और वरिष्ठ पत्रकार राजन चौधरी ने कहा कि यहां पानी की समस्याए मेडिकल कॉलेज, नर्सिंग कॉलेज की समस्या है। राजनीतिक पार्टियों ने सामाजिक मुद्दों से दूरी बना रखी है। युवा चेहरे की मांग जायज है और बदलाव आना चाहिए। परिवारवाद की राजनीति से मुक्ति मिलनी चाहिए। अन्य लोगों ने कहा कि वोट हासिल करने के लिए सब नेता मिलते हैं मगर उसके बाद पांच साल तक फोन तक नहीं उठाते। यहां व्यवस्थाओं में काफी कमियां हैं। आवारा पशुओं की भी बड़ी समस्या है। बहस में कांग्रेस नेता दिनेश सुण्डा,  मनोज मील, अजय सोमरा, भाजपा नेता कुलदीप पूनिया, सरजीत चौधरी, सत्यनारायण शर्मा, जयसिंह राठौड़, जयसिंह शेखावत के अलावा कैप्टन शीशराम झाझडिया, डी.पी.शर्मा और समाजसेवी राजन चौधरी सहित स्थानीय लोगों ने हिस्सा लिया।

पिलानी : सरकारी कॉलेज और सीवर लाइन मुद्दे पर लोगों में आक्रोश
पिलानी विधानसभा क्षेत्र में स्थानीय विधायक सुंदरलाल काका के कार्यकाल पर लोगों ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यहां सबसे ज्यादा जरूरत सरकारी कॉलेज की है और सीवरलाइन और बारिश के पानी की निकासी की समस्या भी बडी समस्या है। पिलानी क्षेत्र में शिक्षा के निजीकरण पर भी लोगों में नाराजगी दिखाई दी। राजनीतिक पार्टियों की बात सुनें तो भाजपा नेताओं ने कहा कि यहां विकास कार्य खूब हुए फिर भी कुछ काम रह गए तो उनको अगले कार्यकाल में पूरा कर देंगे। सरकारी कॉलेज के मंजूरी की प्रक्रिया जारी है। वहीं, कांग्रेस नेताओं ने कहा कि भाजपा राज में यहां जमकर भ्रश्टाचार हुआ है। अगर जांच कराई जाए तो नेताओं के कारनामे सामने आ जाएंगे।

भूमाफियाओं का साथ देने वालों की जांच कराई जाए। शिक्षा व स्वास्थ्य के क्षेत्र में यहां कोई काम नहीं हुए; स्थानीय लोगों ने शराब की अवैध दुकानों के संचालन का आरोप लगाया और क्षेत्र में खराब कानून-व्यवस्था के आरोप भी लगाए। युवाओं ने कहा कि हमें युवाओं को अच्छी शिक्षा और रोजगार देने वाला युवा ईमानदार नेता चाहिए और युवा नेताओं को राजनीति में आगे आना चाहिए। स्थानीय लोगों ने कहा कि क्षेत्र में दोनों राजनीतिक पार्टियों के कार्यकाल की तुलना कर प्रत्याषियों को चुना जाना चाहिए। आम आदमी पार्टी के नेताओं ने दावा किया कि अगर जनता ने उनको मौका दिया तो दिल्ली की तर्ज पर विकास कार्य कराए जाएंगे। यहां विकास एक ज्वलंत मुददा है और निजी व सरकारी शिक्षण संस्थाओं के नाम पर यहां राजनीति बंद होनी चाहिए और सरकारी स्तर पर शिक्षण संस्थाओं को बढ़ावा देने की जरूरत है। यहां पार्टियां सिर्फ चुनाव जीतने के लिए जनता से वादे करती है और धरातल पर कहीं भी विकास नजर नहीं आता। कुछ लोगों ने राजनीति में बदलाव की जरूरत बताते हुए तीसरे मोर्चे को बढ़ाने की वकालत भी की।

भाजपा जिला उपाध्यक्ष धर्मेन्द्र नेहरा ने कहा कि वर्तमान भाजपा विधायक सुंदरलाल काका ने यहां पर काफी विकास कराया है। अपने कार्यकाल में चिकित्सा क्षेत्र में पिलानी में पीएचसी का शुभारम्भ किया। क्षेत्र में काफी गौरव पथ बनाए,पीने के पानी के लिए करीब हर वार्ड में विधायक कोटे से बोरिंग करवाई गई और जिले को नेषनल हाइवे की सौगात दिलाने में काका की अहम भूमिका रही है।

बहस में भाजपा नेताओं में भाजपा जिलाध्यक्ष राजीव सिंह शेखावत, भाजपा जिला उपाध्यक्ष धर्मेन्द्र नेहरा, भाजपा वरिष्ठ नेता जगदीष सोनी, भाजपा जिला महामंत्री कैलाष व्यास लिखवा, शिवप्रसाद आर्य देवरोड,सरपंच सुरेन्द्र सुजडोला, भाजपा युवा मोर्चा अध्यक्ष राजकुमार नायक, कांग्रेस में कांग्रेस चिकित्सा प्रकोष्ठ उपाध्यक्ष डॉ.हरिसिंह सांखला, यूथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र बेनीवाल, संत कुमार चावला के अलावा कविन्द्र बडगुर्जर, आम आदमी पार्टी के राजेन्द्र कुमार, दिलीप सिंह गारिंडा, कुलदीप हिन्दुस्तानी, मनोज पुजारी, फौजी रामानन्द स्वामी, भरत सिंह बालापोता आदि ने हिस्सा लिया।

चिड़ावा : पढ़े-लिखे युवाओं को मिले मौका
यहां के स्थानीय विधायक सुंदर लाल हैं, चिड़ावा नगर पालिका वैसे तो शांत क्षेत्र है मगर लोगों ने यहां सरकारी कॉलेज बनने की सबसे ज्यादा जरूरत बताई, इसके अलावा सौ बैड का अस्पताल, हायर सैकण्डरी स्कूल, सड़क, यातायात, आवारा पशुओं की समस्या के निवारण की जरूरत बताई। स्थानीय लोगों ने कहा कि यहां विकास के नाम पर सभी पार्टियां राजनीति तो करती हैं मगर हकीकत मे विकास नहीं होता। कुछ इलाकों में पानी की सप्लाई कम है। कांग्रेस नेताआें ने कहा कि लोग यहां भाजपा नेताओं की कार्यशैली से त्रस्त हैं और क्षेत्र को लेकर सिर्फ थोथी घोषणाएं हुई हैं। यहां जनप्रतिनिधियों में खींचतान का नुकसान आम जनता को हो रहा है। भाजपा नेताओं ने क्षेत्र में विकास कार्यों का दावा करते हुए कहा कि यहां कई स्कूल क्रमोन्नत हुए और कोर्ट केस की पेचीदगी के कारण कॉलेज मंजूरी का मामला अटका हुआ है राज्य सरकार ने यहां खूब पैसा दिया मगर दलगत राजनीति के कारण जारी पैसों को नगर पालिका ने खर्च नहीं किया। किसानों ने कहा कि यहां समर्थन मूल्य पर फसल खरीद की व्यवस्था ठीक नहीं है और किसानों को उचित दाम नहीं मिल रहे हैं।

स्थानीय लोगों ने स्थानीय विधायक पर क्षेत्र में नहीं आने का आरोप लगाते हुए कहा कि लोगों की मांगों पर सुनवाई नहीं होती। आम आदमी पार्टी नेताओं ने भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों पर जनता को गुमराह करने के आरोप लगाए। बहस में कांग्रेस के सुषील डांगी,द्वारका प्रसाद शर्मा, सुमित्रा सैनी, पवन शर्मा,चिन्टू कटारिया, महेश, जितेन्द्र बसवाला, धर्मपाल झाझडिया, महेन्द्र रणवां, प्रदीप पुजारी,भाजपा के रविकांत षर्मा सहित गंगाधर सैनी, सुशील डावला, राजेन्द्र मावर, ओमप्रकाश स्वामी,शीशराम हलवाई, रामानंद, रामसिह चिडावा, रामनिवास, सत्यपाल, मनोज पुजारी, बाबूलाल सैनी,चन्द्रभान गोदारा आदि ने भाग लिया।

 

Other Latest News of Rajasthan-electon-news-2018 -

दैनिक नवज्योति की चुनावी यात्रा भीलवाड़ा-माण्डलगढ़ पहुंची, जनता को रिझा रहे कार्यकर्ता

चुनाव की तैयारियों को लेकर भीलवाड़ा जिले में दोनों प्रमुख राजनीतिक दल भाजपा और कांग्रेस के कार्यकर्ता रणनीति बनाने और मतदाताओं को रिझाने में जुटे हुए है।

15 Nov 11:35 AM

दैनिक नवज्योति की चुनावी यात्रा पहुंची अजमेर, अण्डरपास और सीवरेज के मुद्दे छाएं

प्रदेश में विधानसभा चुनावों की चौसर बिछने के साथ ही कार्यकर्ताओं में भी जोश बढ़ने लगा है।

14 Nov 11:10 AM

'मेरा मुद्दा' में जानिए तारानगर, चूरू और रतनगढ़ की जनता के मुद्दे

दैनिक नवज्योति की चुनावी यात्रा ‘मेरा मुद्दा’ रविवार को चूरू जिले की तारानगर, चूरू और रतनगढ़ विधानसभा क्षेत्र में पहुंची।

05 Nov 14:35 PM

दैनिक नवज्योति की चुनावी यात्रा पहुंची झुंझुनूं, युवाओं ने जताई राजनीतिक बदलाव की चाहत

दैनिक नवज्योति की चुनावी यात्रा ‘मेरा मुद्दा’ शुक्रवार को झुंझुनूं जिले की उदयपुरवाटी, नवलगढ़ और झुंझुनूं विधानसभा सीट पर पहुंची जहां स्थानीय और राजनीतिक दलों के लोगों से चर्चा की।

03 Nov 10:40 AM

दैनिक नवज्योति की चुनावी यात्रा पहुंची सीकर, जो किसानों की बात करेगा, उसी को इस बार देंगे वोट

रींगस क्षेत्र में राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों और स्थानीय लोगों के बीच चर्चा में लोगों का स्थानीय विधायक बंशीधर बाजिया के खिलाफ जमकर रोष सामने आया।

02 Nov 10:20 AM