'मेरा मुद्दा' में जानिए तारानगर, चूरू और रतनगढ़ की जनता के मुद्दे - Dainik Navajyoti
Dainik Navajyoti Logo
Friday 16th of November 2018
Home   >  Rajasthan assembly election 2018   >   News
राजस्थान चुनाव-2018

'मेरा मुद्दा' में जानिए तारानगर, चूरू और रतनगढ़ की जनता के मुद्दे

Monday, November 05, 2018 14:35 PM

दैनिक नवज्योति की चुनावी यात्रा ‘मेरा मुद्दा’ रविवार को चूरू जिले की तारानगर, चूरू और रतनगढ़ विधानसभा क्षेत्र में पहुंची। इस मौके पर इन इलाकों में पानी की समस्या एक बड़ा मुद्दा सामने आया

चुरू। दैनिक नवज्योति की चुनावी यात्रा ‘मेरा मुद्दा’ रविवार को चूरू जिले की तारानगर, चूरू और रतनगढ़ विधानसभा क्षेत्र में पहुंची। इस मौके पर इन इलाकों में पानी की समस्या एक बड़ा मुद्दा सामने आया। इसके अलावा क्षेत्रों में सड़कों, अस्पताल में सुविधाओं की कमी, स्थानीय बाजारों का विकास, अपराध सहित कई मुद्दों पर लोगों ने बेबाक विचार प्रकट किए। खास बात यह रही कि लोगों ने स्थानीय उम्मीदवार को मैदान में उतारने की राजनीतिक पार्टियों से अपील की और युवाओं पर फोकस करने वाले नेताओं की वर्तमान में जरूरत बताई।

चूरू  : रोजगार, बिजली, पानी और सड़कों के मुद्दे छाए
चूरू विधानसभा सीट पर फिलहाल भाजपा के राजेन्द्र राठौड़ विधायक हैं, जो राज्य सरकार में मंत्री भी हैं। इस क्षेत्र में भाजपा ने विकास के दावे किए हैं तो कांग्रेस ने दावों को नकारते हुए कई समस्याओं का अभी तक निराकरण नहीं होना बताया है। यहां पीने का पानी, आवारा पशुओं की समस्या, रोजगार की कमी सहित बिजली, पानी और सड़कों के मुद्दे छाए रहे। स्थानीय लोगों ने यहां पानी की किल्लत को प्रमुख समस्या बताया और विधायक के इस समस्या पर गंभीर नहीं होने के आरोप लगाया।

यहां बालिका कॉलेज नहीं खुलने और आवारा पशुओं की समस्या से निजात नहीं मिलने के पीछे भी विधायक को ही कारण बताया। लोगों ने कहा कि यहां के विधायक सरकार में मंत्री होने के बाद भी यहां की समस्याओं पर क्षेत्र को उपेक्षित होना पड़ रहा है। कांग्रेस नेताओं ने यहां मेडिकल कॉलेज में स्टाफ की कमी सहित गंदे पानी की निकासी सहित कई मुद्दों पर सरकार को घेरा तो भाजपा नेताओं ने विकास के दावे करते हुए पार्कों का निर्माण, स्कूल क्रमोन्नति सहित कई काम गिनाए। वहीं युवाओं ने सरकार पर रोजगार मामले में बेरोजगारों का दर्द नहीं समझने का आरोप लगाया और कहा कि युवाओं के विकास के लिए यहां खेल मैदानों का निर्माण होना चाहिए। यहां बहस में भाजपा नेता बंसत शर्मा, अमजद तुगलक, सुरेश सारस्वत, कांगे्रस नेता जमील चौहान, सुभाष मेघवाल सहित विजय सारस्वत, मनोज शर्मा, निर्दलीय उम्मीदवार देवेन्द्र जोशी सहित स्थानीय लोगों ने भाग लिया।

तारानगर: स्थानीय उम्मीदवार और नहर के पानी का मुद्दा तय करेगा भविष्य
तारानगर विधानसभा क्षेत्र में फिलहाल भाजपा के जयनारायण पूनियां विधायक हैं। यहां स्थानीय लोगों के अलावा राजनीतिक पार्टियों के लोगों से बातचीत में नहर के पानी का मुद्दा प्रमुख रूप से उभर कर सामने आया। इसके अलावा रेल लाइन, अस्पताल में स्टाफ की कमी और किसानों के मुद्दे छाए रहे। भाजपा नेताओं ने यहां विधायक के माध्यम से खूब विकास कार्य होने का दावा किया और अगली बार जीतकर आने पर नहर का पानी भी लाने का भरोसा दिया। रेल लाइन पर भी आश्वासन देते हुए भाजपा नेताओं ने स्कूल क्रमोन्नत और सड़कों के निर्माण की उपलब्धियां गिनार्इं। वहीं कांग्रेस नेताओं ने कहा कि भाजपा के दावे झूठे हैं।

तारानगर को विकास के लिए सबसे पहले स्थानीय उम्मीदवार की जरुरत है जो लोगों की समस्याओं को अच्छी तरह समझ सके। रेल और पानी को बड़ी समस्या बताते हुए कांग्रेस राज आने पर निदान करने का दावा किया। नहर का काम केवल कांग्रेस सरकार में हुआ और भाजपा ने द्वेषतापूर्ण राजनीति कर इस काम को आगे नहीं बढ़ाया। नहर के नाम पर रकबा घटाकर किसानों पर जुल्म किया है।

भाजपा-कांग्रेस जनता को बना रही है बेवकूफ
स्थानीय लोगों ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस विकास के नाम पर लोगों को बेवकूफ बना रही हैं, यहां नेता वोट लेकर गरीब, किसान, मजदूरों पर बिल्कुल ध्यान नहीं देते। युवाओं ने कहा कि वे बेरोजगारी की समस्या से जूझ रहे हैं और भर्तियों के नाम पर केवल ठगी हुई। यहां युवाओं के सपनों को समझने वाला विधायक  होना चाहिए। किसानों ने पानी की समस्या को देखते हुए इजरायल देश की तरह खेती को बढ़ावा देने की जरूरत बताई और समर्थन मूल्य खरीद पर किसानों को उचित दाम दिलाने की व्यवस्था नहीं होने का आरोप लगाया।

यह रहे उपस्थित
बहस में भाजपा के महावीर पूनियां, राकेश जांगिड़, जगदीश दायमा, मोहम्मद  तैयब, राजेन्द्र जोइया, सुशील श्रावदी, विनोद कस्बा, सुरेन्द्र कस्बा, कांग्रेस नेता मदन स्वामी, ताराचंद कस्बा, बृजलाल सरावगी, ओम सरावगी, सुमेर सैनी, आशा राठौड़, रामस्वरूप झाझडिया, संजय सिहाग, सीपीएम नेता निर्मल प्रजापत, उमराव कॉमरेड, आप पार्टी के भोजराज फौजी, अरूण इंसारिया तथा राजू सहू स्थानीय लोगों ने भाग लिया।

रतनगढ़: एक तबका संतुष्ट तो दूसरे ने उठाए विधायक पर सवाल
रतनगढ़ विधानसभा क्षेत्र में वर्तमान में भाजपा के राजकुमार रिणवा विधायक हैं और वे राज्य सरकार में मंत्री भी हैं। क्षेत्र में इनके काम को लेकर एक बड़ा तबका संतुष्ट है तो कुछ लोगों ने उनकी ईमानदारी पर सवाल उठाते हुए गिने चुने लोगों की ही सुनवाई करने के आरोप लगाए। स्थानीय लोगों और पार्टी नेताओं से बातचीत के आधार पर यहां ड्रेनेज समस्या सहित पानी, रीको क्षेत्र के अधूरे विकास, अस्पताल में स्टाफ की कमी सहित कई स्थानीय मुद्दे सामने आए।

भाजपा-कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे को घेरा
बातचीत में भाजपा नेताओं ने कहा कि स्थानीय विधायक ने वादे के अनुसार यहां काम कराए हैं और यहां पहले से ज्यादा विकास हर क्षेत्र में हुआ है। वहीं कांग्रेस ने भाजपा के दावों को नकारते हुए विधायक पर क्षेत्र का उपेक्षा करने और वादे के अनुसार काम नहीं करने के आरोप लगाए। कुछ लोगों ने स्थानीय प्रशासन में भ्रष्टाचार व्याप्त होने, सड़क निर्माण कार्यों में घोटाले होने के आरोप लगाए। कुछ लोगों ने विधायक पर जातिवाद करने का आरोप लगाते हुए क्षेत्र में गिने चुने लोगों की समस्याएं सुनने का आरोप लगाया। युवाओं की उम्मीदों पर विधायक  खरे नहीं उतरे। युवाओं ने कहा कि रोजगार के क्षेत्र में यहां कुछ काम नहीं हुआ। युवाओं के लिए यहां बहुत कुछ किए जाने की जरूरत है। स्थानीय व्यापारियों ने कहा कि यहां के मैन मार्केट में व्यापारी गंदे पानी की निकासी की समस्या से त्रस्त हैं और विधायक को कहने के बावजूद समस्या का निदान समय पर नहीं होता। कुछ लोगों ने यहां किसानों के मुद्दों पर भी कोरी राजनीति होने के आरोप लगाए।

इन्होंने लिया बहस में हिस्सा
बहस में भाजपा नेताओं में पालिका अध्यक्ष लीटू कल्पनाकांत, युवा मोर्चा अध्यक्ष गोपाल पारीक, सुशील इंदोरिया, मोहम्मद  इदरीस, प्रदीप सैनी, अमरचंद सैनी, किशोरीलाल बील, बनवारीलाल सोनी, संजय पुरोहित, मनोज जोशी, कांग्रेस नेताओं में सेवादल जिलाध्यक्ष अजय बणसिया, राजेन्द्र बवेरवाल, जनता दल यूनाइटेड जिलाध्यक्ष कन्हैयालाल स्वामी, भीमराव अम्बेडकर पार्टी के ओमभाई भुजियावाला,समाजवादी नेता आनन्दीलाल पाण्ड्या सहित राकेश शर्मा, रामकिशन गौरीसरिया, राकेश शर्मा लूंच, अरविन्द महर्षि सहित स्थानीय लोगों ने भाग लिया।

 

 

Other Latest News of Rajasthan-assembly-election-2018 -

गुरुजी भी बनना चाहते विधायक

यहां के गुरुजन भी अब सक्रिय राजनिति में ताल ठोक चुके हैं। यहां के शिक्षक टिकटों की दावेदारी में इन दिनों दिग्गज नेताओं

10 Nov 14:20 PM

अमित शाह 21 को राजस्थान के 200 विधानसभा क्षेत्रों में वीडियो कॉन्फ्रेंस से करेंगे संवाद

अमित शाह जयपुर से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए 200 विधानसभा क्षेत्रों में संवाद करेंगे, 200 एलईडी स्क्रीन्स से वीसी से युवा और कॉलेज विद्यार्थी जुड़ेंगे

10 Nov 14:10 PM

राजस्थान: दिल्ली में चल रहा मंथन, दो-तीन दिन में आएगी कांग्रेस-भाजपा की पहली सूची

राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा एवं कांग्रेस की पहली सूची अगले दो-तीन दिनों में घोषित हो सकती है।

10 Nov 12:45 PM

अशोक गहलोत ने कहा, मुझे भरोसा है, राजस्थान सहित 5 राज्यों में बनेगी कांग्रेस की सरकार

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव एवं पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि राजस्थान सहित पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव में जनता कांग्रेस की सरकार बनाने का मानस बना चुकी है। देशभर में भाजपा की केंद्र सरकार और खुद पीएम की साख निरंतर गिरी है। देश की जनता समझ चुकी है कि गलत हाथों में देश की बागडोर दे दी है।

09 Nov 00:00 AM

7 बार विधायक रह चुके सुन्दरलाल इस बार नहीं लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

झुंझुनूं जिले में पिलानी सीट से भारतीय जनता पार्टी विधायक सुंदर लाल अगला विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। जिले से सात बार विधायक बने सुंदर लाल ने इसकी घोषणा की है।

05 Nov 14:45 PM