रेणुकाजी बांध बहुउददेश्यीय परियोजना के लिए राजस्थान सहित 6 राज्यों ने किए हस्ताक्षर - Dainik Navajyoti
Dainik Navajyoti Logo
Thursday 17th of January 2019
Home   >  India   >   News
भारत

रेणुकाजी बांध बहुउददेश्यीय परियोजना के लिए राजस्थान सहित 6 राज्यों ने किए हस्ताक्षर

Friday, January 11, 2019 16:45 PM

अशोक गहलोत ने केन्द्र से आग्रह किया कि हरियाणा एवं उत्तरप्रदेश राज्यों को अपने क्षेत्र में राजस्थान के हिस्से के जल का अवैध दोहन रोकने एवं राज्य के हिस्से का पानी दिलाने का निर्देश प्रदान करावें ।

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अन्तर्राज्यीय जल समझौतों की पूर्ण रूपेण पालना करवाने के लिए केन्द्र सरकार से हस्तक्षेप करने का आग्रह करते हुए कहा है कि ताजेवाला हैड से राजस्थान को आवंटित यमुना जल के सम्बंध में हरियाणा सरकार द्वारा अब तक सहमति नहीं दिये जाने के फलस्वरूप राजस्थान पिछले 24 वर्षों से अपने विधि संगत अधिकारोंं से वंचित हो रहा है, जिससे प्रदेश के चूरू, झुन्झुनु एवं सीकर जिले की जनता सिंचाई सुविधा एवं पेयजल से वंचित हो रही है। इसी प्रकार ओखला हेड से भी राज्य के भरतपुर जिले को अपने हिस्से का पूरा पानी नही मिल पा रहा है।
 

गहलोत ने शुक्रवार को दिल्ली में केन्द्रीय जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा पुर्नरूद्धार मंत्री नितिन गडकरी की उपस्थिति में रेणुकाजी बांध बहुउददेश्यीय परियोजना के लिए 6 राज्यों के मध्य हुए अनुबंध पर हस्ताक्षर के लिए आयोजित समारोह में यह बात कही।

उन्हाेंने बताया ताजेवाला हैड पर आवंटित जल को राजस्थान ले जाने के लिये वर्ष 1994 में पांच राज्यों के मध्य हुए एम.ओ.यू. के अन्तर्गत वर्ष 2003 से हरियाणा सरकार से एम.ओ.यू. पर हस्ताक्षर करवाने के लिये लगातार प्रयास किये जा रहे हैं, जिससे परियोजना की लागत में अत्यधिक वृद्धि हुई हैं । गहलोत ने कहा कि हरियाणा सरकार को एम.ओ.यू. पर शीघ्र सहमत कराये जाने हेतु निर्देश प्रदान किये जाये जिससे राजस्थान को उसके हिस्से का जल प्राप्त हो सके।

मुख्यमंत्री ने बताया कि ओखला हेड से भी राज्य के भरतपुर जिले को अपने हिस्से का पूरा पानी नहीं मिल रहा है। गत 17 वर्षो के आंकड़ों के अनुसार राजस्थान को उपलब्ध पानी का लगभग 40 प्रतिशत पानी ही प्राप्त हुआ हैं। जिसका मुख्य कारण सही मात्रा मे पानी नहीं छोडा जाना एवं पानी का अवैध दोहन किया जाना है ।

उन्हाेंने केन्द्र से आग्रह किया कि हरियाणा एवं उत्तरप्रदेश राज्यों को अपने क्षेत्र में राजस्थान के हिस्से के जल का अवैध दोहन रोकने एवं राज्य के हिस्से का पानी दिलाने का निर्देश प्रदान करावें ।

गहलोत ने केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री से आग्रह किया कि पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना के माध्यम से राजस्थान के 13 जिलों झालावाड, बारां, कोटा, बूंदी, सवाईमाधोपुर, अजमेर, टोंक, जयपुर, दौसा, करौली, अलवर, भरतपुर एवं धौलपुर जिलों में पेयजल एवं 2 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में नवीन सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाने की महत्वाकांक्षी परियोजना पर मध्यप्रदेश द्वारा अन्तरराज्यीय जल के संबध में किये जा रहे आक्षेप सही नहीं है। परियोजना की रिपोर्ट राजस्थान एवं मध्यप्रदेश के मध्य वर्ष 1999 एवं 2005 मे हुए समझोते के अनुसार बनाई गयी है। अतः मध्यप्रदेश के आक्षेपों को खारिज कर पूर्वी राजस्थान की नहर परियोजना की डी.पी.आर. का केन्द्रीय जल आयोग से शीघ्र अनुमोदन करायें।

इंसेंटिवाइजेसन स्कीम फॉर ब्रिजिंग इरीगेशन गेप (आई.एस.बी.आई.जी.) योजना की चर्चा करते हुए गहलोत ने बताया कि राजस्थान में भारत सरकार के सिंचित क्षेत्र विकास एवं जल प्रबंधन कार्यक्रम ( सी.ए.डी.डब्ल्यू.एम.) के अंतर्गत केंद्रीय सहायता से चल रही सात परियोजनाओं को अप्रैल 2017 से बन्द कर दिया गया है, इसके स्थान पर इंसेंटिवाइजेसन स्कीम फॉर ब्रिजिंग इरीगेशन गेप योजना प्रस्तावित की गई है परन्तु केन्द्र सरकार द्वारा योजना के क्रियान्वयन हेतु अभी दिशा निर्देश प्राप्त नही हुए है जिसकी वजह से किसानों का सिंचाई का वांछित लाभ नही मिल पा रहा है।

गहलोत ने बताया कि इस योजना के अन्तर्गत पूर्व में संचालित सात परियोजनाओं मे शेष बचे 6 लाख 83 हजार 656 हेक्टेयेर कमांड क्षेत्र तथा राज्य सरकार द्वारा प्रस्तावित आठ नवीन योजनाओं के 3 लाख 5 हजार 862 हेक्टेयर कमांड क्षेत्र के लिये कुल 6193 करोड रूपये केन्द्र सरकार की मंजूरी के लिये लंबित हैै। उन्हाेंने कहा कि राज्य के 9 लाख 89 हजार 518 कमांड क्षेत्र को लाभान्वित करने वाली इन परियोजनाओं केा शीघ्र मंजूरी प्रदान कर केन्द्रीय सहायता जारी करवाई जाये जिससे किसानों को वांछित लाभ दिलवाया जा सके।

Other Latest News of India -

25 साल पुरानी सियासी दुश्मनी खत्म, यूपी में 'हाथी' और 'साइकिल' ने मिलाया हाथ

लखनऊ के ताज होटल में सपा प्रमुख अखिलेश यादव और बसपा प्रमुख मायावती ने साझा संवाददाता सम्मेलन में लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन करने का औपचारिक तौर पर ऐलान किया है।

12 Jan 11:50 AM

पढ़ें, स्‍वामी विवेकानंद के जीवन की महत्वपूर्ण बातें, भारत के उत्‍थान में निभाई थी अहम भूमिका

महान दार्शनिक स्‍वामी विवेकानंद जिनका नाम नरेंद्रनाथ दत्त था। उन्होंने बहुत कम उम्र में वेद और दर्शन शास्‍त्र का ज्ञान हासिल कर लिया था और भारत के उत्‍थान में अहम भूमिका निभाई थी।

12 Jan 11:25 AM

राहुल ने दुबई में भारतीयों को किया संबोधित, कहा, आपके मन की बात सुनने आया हूं

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि अगले वर्ष होने वाले आम चुनाव के बाद केंद्र में उनकी पार्टी की सरकार बनने पर आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिया जाएगा।

12 Jan 11:05 AM

छत्तीसगढ़ में बना नियम, CBI को जांच के लिए लेनी होगी राज्य सरकार की अनुमति

केन्द्रीय जांच ब्यूरो में चल रही उापटक के बीच छत्तीसगढ़ में राज्य सरकार ने बगैर अनुमति के इस राष्ट्रीय जांच एजेन्सी के राज्य में जांच करने पर रोक लगा दी है।

12 Jan 10:55 AM

शिकस्त से मिलेगी गुलामी, वैचारिक युद्ध है लोकसभा का चुनावी दंगल : शाह

लोकसभा के चुनावी दंगल में उतरने से पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रामलीला मैदान में पार्टी कार्यकर्ताओं में न सिर्फ जोश भरा, बल्कि लोकसभा चुनाव को युद्ध करार देते हुए देश की जनता को भी संदेश दिया कि अगर इस युद्ध में मोदी सरकार को शिकस्त मिलती है, तो वह शिकस्त पानीपत के उस युद्ध के तरह होगी, जिसमें मराठों के हारने के बाद देश दो सौ साल तक गुलाम बना रहा।

12 Jan 10:05 AM