महापरिनिर्वाण दिवस पर राष्ट्र ने दी अम्बेडकर को श्रद्धांजलि - Dainik Navajyoti
Dainik Navajyoti Logo
Wednesday 12th of December 2018
Home   >  India   >   News
भारत

महापरिनिर्वाण दिवस पर राष्ट्र ने दी अम्बेडकर को श्रद्धांजलि

Thursday, December 06, 2018 14:35 PM

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के नेतृत्व में राष्ट्र ने गुरुवार को बाबा साहेब डॉ. बीआर अम्बेडकर को उनके 63वें महापरिनिर्वाण दिवस पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के नेतृत्व में  राष्ट्र ने गुरुवार को बाबा साहेब डॉ. बीआर अम्बेडकर को उनके 63वें  महापरिनिर्वाण दिवस पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। संसद भवन परिसर में आयोजित एक समारोह में कोविंद के साथ उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडु, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने भारतीय संविधान के जनक डॉ. अम्बेडकर की  प्रतिमा पर पुष्पाजंलि अर्पित की। इस अवसर पर सर्वधर्म सभा का भी आयोजन  किया गया।

बाबा साहेब को श्रद्धांजलि देने वाले नेताओं में  पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री डॉ. थावर चंद गहलोत, राज्य मंत्री रामदास अठावले, कृष्णपाल गुर्जर, विजय सांपला और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी तथा कई सांसद भी शामिल थे। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी  के महासचिव डी राजा ने भी डॉ. अंबेडकर को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस समारोह का आयोजन सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय के अधीन एक स्वायत्त संगठन  अम्बेडकर  फाउंडेशन ने  किया गया था।

संविधान को विफल कर रही है भाजपा : मायावती
बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने बृहस्पतिवार को भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार पर संविधान को विफल करने के षडयंत्र रचने का आरोप लगाया और कहा कि लोकतंत्र और वंचित वर्ग को ताकत देने वाले प्रत्येक संवैधानिक और स्वायत्तशासी संस्थाओं का दुरुपयोग किया जा रहा है। मायावती ने यहां पार्टी कार्यालय में संविधान निर्माता बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर आयोजित एक समारोह में कहा कि भाजपा की वर्तमान केन्द्र सरकार अपने पूरे शासनकाल में वंचित वर्गों की घोर उपेक्षा के साथ-साथ बाबा साहेब डॉ. अम्बेडकर के संविधान को ही हर प्रकार से विफल करने के षडयंत्र में ही लगी रही और इस क्रम में इन वर्गों के संघर्ष को ताकत तथा लोकतंत्र को शक्ति प्रदान करने वाले हर संवैधानिक और स्वायत्तशासी संस्थाओं का घोर दुरूपयोग करने का प्रयास किया।

उन्होंने कहा कि भाजपा की केन्द्र और राज्य सरकारों ने अपनी संकीर्ण जातिवादी तथा साम्प्रदायिक नीतियों और खासकर अपनी गरीब, मजदूर और किसान-विरोधी नीतियों और रवैयों पर अडियल रवैया अपनाकरअपने अहंकारी होने का ही परिचय दिया है। अभूतपूर्व संकट झेल रहे खेत, खेती और किसानों के मामलों में तो इस सरकार की नीति और रणनीति भी ऐसी $गलत एवं अनुपयोगी रही है। देश के लगभग सभीराज्यों में किसान वर्ग के लोग काफी ज्यादा आक्रोशित और आन्दोलित हैं।

मायावती ने आरोप लगाया कि केन्द्र सरकार ने किसानों को बड़े-बड़े  लुभावने वायदों में बहकाने का प्रयास किया है लेकिन किसान काफी दु:ख  झेलकर भी अपनी तन, मन की पूरी शक्ति के साथ सरकार की गलत नीति और रवैये के  विरोध करने के लिये राजधानी दिल्ली की सड़कों तक पर मार्च करके अपना जबर्दस्त विरोध और आक्रोश जताते हैं। उन्होंने कहा कि फसल बीमा आदि के नाम  पर सरकार बड़े-बड़े दावे करती है, लेकिन सरकारी खजाने का अरबों रुपए  प्रीमियम चुकाने के नाम पर निजी क्षेत्र की बीमा कम्पनियों की झोली में डाला जा रहा है।

उन्होंने कहा कि भाजपा अपनी  घोर वादाखिलाफी और विफलताओं पर से लोगों का ध्यान हटाने के लिए राम मन्दिर अभियान में लग गये  हैं। केंद्र सरकार जनहित, जनकल्याण और देश निर्माण आदि की सारी संवैधानिक कर्तव्यों और जिम्मेदारियों से मुक्त होकर मन्दिर निर्माण के कार्य में लगी रहने पर कटिबद्ध लग रही है। बसपा नेता ने कहा कि वोटों और  चुनावी स्वार्थ की राजनीति में भाजपा के वरिष्ठ नेता हिन्दू देवी-देवताओं  और आस्थाओं को भी नहीं बख्श रहे है। ऐसे लोगों से आमजनता को बहुत ही सजग और सतर्क रहने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने  केन्द्र और विभिन्न राज्यों में अपने लम्बे शासनकाल के दौरान सर्वसमाज के  गरीबों, मजदूरों, किसानों और अन्य मेहनतकश आम जनता के साथ-साथ करोड़ों  दलितों, पिछड़ों और मुस्लिम एवं अन्य धार्मिक अल्पसंख्यकों को कभी भी  ईमानदारीपूर्वक उनको आत्म-सम्मान तथा स्वाभिमान से जीवन व्यतीत करने का  संवैधानिक अधिकार नहीं दिया। केवल कागजी कार्रवाई आदि करके इन वर्गों के असली राजनीतिक, शैक्षणिक और आर्थिक हितों पर कुठाराघात करती रही और इनके शिक्षा और नौकरी में आरक्षण की व्यवस्था को भी लगभग निष्प्रभावी बनाया।

राहुल ने अम्बेडकर को दी श्रद्धांजलि
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने संविधान निर्माता बाबा साहेब अम्बेडकर की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। गांधी ने ट्वीट किया कि जो इतिहास भूल जाते हैं वह इतिहास नही बनाते। बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर जी को उनके महापरिनिर्वाण दिवस पर शत् शत् नमन। कांग्रेस अध्यक्ष ने कई अन्य प्रमुख नेताओं के साथ संसद भवन में डॉ. अम्बेडकर के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

 

Other Latest News of India -

CBI निदेशक की याचिका पर सुनवाई पूरी, सुप्रीम कोर्ट ने फैसला रखा सुरक्षित

सुप्रीम कोर्ट ने केन्द्रीय जांच ब्यूरो निदशेक आलोक वर्मा से अधिकार वापस लेने और उन्हें छुट्टी पर भेजे जाने के केंद्र के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया है।

06 Dec 16:10 PM

नवजोत सिद्धू को आवाज जाने का खतरा, डॉक्टरों ने दी आराम करने की सलाह

पंजाब सरकार में मंत्री और कांग्रेस के स्टार प्रचारक नवजोत सिंह सिद्धू के गले परेशानी होने के कारण डॉक्टरों ने उन्हें अब ना बोलने की सलाह दी है।

06 Dec 15:00 PM

आम्रपाली समूह के कार्यालय, होटल, सिनेमा हॉल और मॉल हों कुर्क: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने रीयल्टी क्षेत्र की कंपनी आम्रपाली समूह के नोएडा और ग्रेटर नोएडा में स्थित कंपनी कार्यालयों सहित पांच-सितारा होटल, सिनेमा हॉल, मॉल और देशभर में स्थित कारखानों को कुर्क कर उनकी बिक्री करने के आदेश दिए है।

06 Dec 15:15 PM

अयोध्या में सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था, धारा 144 लागू

मंदिर निर्माण को लेकर साधु संतों, विश्व हिन्दू परिषद तथा अन्य कई संगठनों के आयोजन के चलते 26वीं बरसी के दिन गुरूवार को अयोध्या की सुरक्षा के लिये चाक चौबंद व्यवस्था की गयी है।

06 Dec 14:55 PM

शहीद इंस्पेक्टर सुबोध के परिवार ने की योगी से की मुलाकात, सभी मांगे मानी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरूवार को बुलंदशहर में गत तीन दिसम्बर को गोकशी को लेकर हुई हिंसा में शहीद पुलिस निरीक्षक सुबोध कुमार सिंह के परिजनों से मुलाकात की।

06 Dec 14:35 PM