कुछ मीठा हो जाए: जानिए, चॉकलेट के फायदे और नुकसान - Dainik Navajyoti
Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 16th of October 2018
Home   >  Health   >   News
स्वास्थ्य

कुछ मीठा हो जाए: जानिए, चॉकलेट के फायदे और नुकसान

Thursday, August 23, 2018 15:20 PM

प्रतीकात्मक फोटो

कोटा। चॉकलेट खाना किसे पसंद नहीं। चॉकलेट बच्चों को ही नहीं हर उम्र के लोगों को  पसंद होती है। चॉकलेट का जिक्र हो और मुंह में पानी न आए, ऐसा हो ही नहीं सकता। बच्चों से लेकर बड़ों तक को अपना दीवाना बनाने वाले चॉकलेट का आकर्षण इतना प्रबल होता है कि इसे खाने से दांत खराब होने का डर भी गौण हो जाता है।

त्यौहार हो या खुशी का मौका या फिर कभी मीठा खाने का मन करे तो चॉकलेट का ख्याल सबसे पहले आता है। अब तो यह स्थिति हो गई है त्यौहारों पर मिठाई की जगह चॉकलेट ने ले ली। आजकल आपको मार्केट में चॉकलेट की कई तरह की वैरायटियां देखने को मिल जाएंगी। चॉकलेट का कारोबार अरबों रुपए का है।

बाजार में चॉकलेट के कई तरह के ब्रांड मौजूद हैं। चॉकलेट मुख्यत: दो तरह की ब्लैक चॉकलेट और व्हाइट चॉकलेट होती है। भारत में चॉकलेट के सबसे पसंदीदा डेथ बाई चॉकलेट, हॉट चॉकलेट फ्यूज, चॉकलेट मिल्क सेक, चॉकलेट ब्राउनी व चॉकलेट ट्रफेल पेस्ट्री है। इसमें 18-24 आयु वर्ग वाले लोग ज्यादा चॉकलेट उत्पादों को आॅनलाइन मंगाते हैं।

स्विट्जरलैंड और बेल्जियम की चॉकलेट दुनिया भर में मशहूर हैं। किसी चॉकलेट में मेवे डले होते हैं तो किसी में शराब भरी होती है। चॉकलेट खाना शरीर और दिमाग दोनों के लिए अच्छा है। इससे दिल ठीक तरह से काम करता है और मिजाज भी अच्छा रहता है, लेकिन चॉकलेट में ढेर सारी कैलोरी और चीनी भी होती है, जो नुकसान पहुंच सकता है।  चॉकलेट के फायदों और नुकसान पर हमारी खास पेशकश...

 
चॉकलेट का इतिहास
चॉकलेट आज भले ही पसंदीदा डेजर्ट बन गई हो। लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि पहले इसका स्वाद तीखा होता था। विशेषज्ञों का मानना है कि सबसे पहले चॉकलेट मैक्सिको और मध्य अमेरिका में ही बनाई गई थी। इसमें कोको बीज को पीसकर मिर्च और वनीला जैसे मसाले मिलाए जाते थे और ड्रिंक तैयार की जाती थी। एक तरफ जहां अमेरिका में लोग तीखे चॉकलेट का सेवन करते थे, वहीं यूरोप ने इसे मिठास दी। यूरोप में लोगों ने कोको बीन्स में शक्कर और दूध डालकर जमाया और एक लजीज डेजर्ट तैयार की। 
 
ऐसे पड़ा चॉकलेट का नाम
वैसे तो चॉकलेट के नामकरण को लेकर अलग-अलग बातें कही गई हैं। एक विचार के मुताबिक चॉकलेट एक स्पैनिश शब्द है। वहीं, अमेरिका में एजटेक सभ्यता के दौरान भी चॉकलेट का जिक्र मिला है। वहां प्रयोग होने वाली नेहुटल भाषा में चॉकलेट का अर्थ खट्टा या कड़वा होता था। 
 
 
ब्रसेल्स यूरोप की चॉकलेट राजधानी
ब्रसेल्स है तो बेल्जियम की राजधानी, लेकिन इसे यूरोप की चॉकलेट राजधानी भी कहा जाता है। यहां चॉकलेट की कई खास और महंगी दुकानें हैं। बेहतरीन बेल्जियम चॉकलेट की कीमत होती है सत्तर यूरो यानी करीब साढ़े चार हजार रुपए प्रति किलो।
 
इन देशों में सबसे अधिक खाई जाती हैं चॉकलेट
1. नॉर्वे (प्रति व्यक्ति 14.6 पाउंड)
2.यूनाइटेड किंग्डम (प्रति व्यक्ति 16.3 पाउंड)
3.आयरलैंड (16.3 पाउंड प्रति व्यक्ति)
4.जर्मनी (प्रति व्यक्ति 17.4 पाउंड)
5.स्विट्जरलैंड (प्रति व्यक्ति 1 9 .8 पाउंड)
 
सबसे अधिक चॉकलेट का उत्पादन करने वाले 4 देश
- संयुक्त राज्य अमेरिका
- जर्मनी
- स्विट्जरलैंड
- बेल्जियम  
 
चॉकलेट के प्रकार
डार्क चॉकलेट - सेहत के लिए काफी अच्छी मानी जाती है। इसका सेवन करने से शारिरिक शक्ति में भी वृद्धि होती है। इसमें घुलनशील फाइबर की थोड़ी मात्रा होती है और यह खनिज तत्वों के साथ भरी हुई होती है।
 
मिल्क चॉकलेट - मिल्क चॉकलेट का के्रज बच्चों में ज्यादा रहता है। इसको खाने से दिमाग तेज होता है। साथ ही हृदय संबंधी बीमारियों का खतरा भी कम करता है।
 
व्हाइट चॉकलेट - इसका उपयोग करने से शरीर में केल्शियम की कमी नहीं होती और साथ ही हड्डियों में चल रही कमजोरी को भी दूर करता है।
 
फू्रट एन नट चॉकलेट - फ्रूट एन नट चॉकलेट में कई प्रकार के नट्स का प्रयोग होता है। इसमें सूखे मेवों का उपयोग होता है जो खाने में टेस्ट के साथ-साथ शरीर के लिए भी अच्छा होता है। इसका डिमांड मार्केट में ज्यादा है।
 
 
चॉकलेट के फायदे
कुछ लोगों का मानना है कि चॉकलेट स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती है, लेकिन यदि आप इसका निश्चित मात्रा में प्रतिदिन उपयोग करें इसके फायदे बहुत अधिक है। 
- हृदय को स्वस्थ रखे। - तनाव से बचाएं। 
- शरीर को दे अतिरिक्त ऊर्जा। - सर्दी खांसी से बचाएं।
- तंत्रिका तंत्र व मस्तिष्क को स्वस्थ रखें। 
- कोलेस्ट्रोल को कम करें।
- खराब कोलेस्ट्रोल लिपोप्रोटीन के स्तर को कम करें।
- चॉकलेट का मुख्य घटक कोकोआ पावरफुल एंटीआॅक्सीडेंट का काम करें।
- कोकोआ में पाया जाने वाला फ्लावानोल शरीर में रक्त संचार बढाएं। जिससे त्वचा को सुरक्षा मिले।
 
चॉकलेट खाने के नुकसान 
- चॉकलेट का अधिक मात्रा में सेवन करने से इसमें उपस्थित शुगर से आपके दांतों को नुकसान हो सकता है। 
- अधिक मात्रा में चॉकलेट का सेवन करने से इसमें मौजूद एल्केलाइड सिर दर्द, एलर्जी, कब्ज और माइग्रेन जैसी समस्याएं उत्पन्न कर सकते हैं।
- अनिंद्रा का सामना करना पड़ सकता है, क्योंकि इसमें अधिक मात्रा में कैफीन मौजूद होता है।  इसमें मौजूद कैफीन और अन्य अल्कलॉइड और अमाइन के कारण आपको लत लग सकती है 
- इसमें मौजूद कैफीन आपके शरीर में अन्य दवाओं के असर को बेअसर कर सकता है। इसलिए यदि आप चिकित्सा उपचार को ले रहे हैं तो चॉकलेट खाने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर ले ले।
- चॉकटेल में कैफीन होता है। इस कैफीन को ज्यादा मात्रा में लेने से डायरिया और इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम जैसी परेशानियां हो सकती हैं। 
- चॉकलेट में मौजूद कैफीन के ही कारण आपके शरीर का ब्लडप्रेशर हाई हो सकता है। इसीलिए जिन लोगों को हाई बीपी की दिक्कत हो वे चॉकलेट को अवॉइड करें। लो बीपी से परेशान लोग इसका सेवन कर सकते है।  
- चॉकलेट में मौजूद कोकोआ केल्शियम को पेशाब के जरिए ज्यादा बाहर निकालता है। इस वजह से आॅस्टियोपोरोसिस की समस्या यानी हड्डियां कमजोर हो सकती हैं।
 
बच्चों को चॉकलेट क्यों पसंद है? जानिए बच्चों की जुबानी
- यशवी यादव ने कहा चॉकलेट अच्छी लगती है। मुझे डेयरी मिल्क पसंद है। पर्क , मंच और चॉकलेट आइसक्रीम भी अच्छी लगती है। टॉफी भी अच्छी लगती है।  पर मम्मा खाने नहीं देती है,  बोलती है इससे गला खराब हो जाएगा। 
 
- दक्ष ने कहा आई लव चॉकलेट।  लेकिन मेरी मम्मा खाने नहीं देती, क्योंकि वे कहती है कि ज्यादा चॉकलेट खाओगे तो  दांत खराब हो जाएगा।  
 - श्रुति जैन ने कहा टेस्ट अच्छा लगता है। डेयरी मिल्क और टॉफी पसंद है। मम्मी खाने को मना  करती है, क्योंकि मेरे दांतो में कीड़े लग गए है पर चुपके से खा लेती हूं। 
- परु जैन ने कहा चॉकलेट तो मुझे बहुत पसंद है। लेकिन मेरी मम्मी टॉफी  खाने से मना करती है। लेकिन फिर भी मैं चुपके से खा ही लेती हूं। चॉकलेट तो टेस्टी लगती है।  
- देबनिता चक्रवर्ती ने कहा टेस्टी होता है। चॉकलेटी फ्लेवर अच्छा लगता है। चोकोचिप्स अच्छा लगता है।
 
दैनिक नवज्योति ने चिकित्सकों एवं अभिभावकों से यह जानने का प्रयास किया कि चॉकलेट स्वास्थ्य के लिए कितनी फायदेकारक या नुकसानदायक हैं।
 
कोटा डेन्टल क्लिनिक के डायरेक्टर डॉ. धर्मेन्द्र माहेश्वरी ने बताया कि दो तरह की चॉकलेट्स होती है। एक दांतों में चिपकने वाली और दूसरी मुंह में जाते ही मेल्ट हो जाती है। जो चॉकलेट्स काफ ी स्टिकी होती है उन्हें नहीं खाना चाहिए। यह दांतों में चिपकने के अलावा आंतो में भी डिपोजिट हो जाती है । यह शरीर को नुकसान करती है। दांत में दर्द, कीड़ा लगना आदि समस्याएें हो जाया करती है। जो कैंडीज मुंह में जाते ही पिघल जाती है उन्हें खाने में नुकसान नहीं है। फायदा यह है कि चॉकलेट तुरन्त एनर्जी देती है। नुकसान यह है कि ज्यादा चॉकलेट खाने से बच्चों में शुगर लेवल बढ़ता है जिससे बच्चे हायपर एक्टिव हो जाते है। डेढ़ से दो साल तक की उम्र के बच्चों को चॉकलेट्स नहीं देना चाहिए। बच्चा जब समझदार हो जाए निगलना और उगलना उसे आ जाए तब दें। चॉकलेट का टेस्ट और इसमें जो फ्लेवर्स डालते है उससे एडिक्शन होता है। इसलिए बच्चे पंसद करते है । विज्ञापन देकर भी ब्रेन वॉश करते है कि बहुत अच्छी होती ही चॉकलेट तो जब चार लोग बोलेगें कि यह बहुत अच्छी है तो पांचवा अपने आप ही बोलेगा हां, बहुत अच्छी है चॉकलेट। चॉकलेट खाना, गिफ्ट में देना स्टेट्स सिम्बल ैभी हो गया है।
 
 
शांति हॉस्पिटल के डायरेक्टर एवं चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉ. दिनेश कुमार गुप्ता का कहना है चॉकलेट्स का स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। इसमें स्वीटनर्स और प्रिजरवेटिव शरीर को नुकसान देते है। बच्चों में दांत में दर्द, कीड़ा लगना गला खराब हो जाता है। कान में इन्फेक्शन हो जाता है। यह न्यूट्रीशनल नहीं है। शुगर कन्टेन्ट होता है जो नुकसान करता है। चॉकलेट खाएंगे तो दिल स्वस्थ रहगा ऐसा नहीं है । शौक के हिसाब से कभी थोड़ी बहुत खा सकते है। लेकिन अच्छी क्वाालिटी कि उसमें सामग्री अच्छी डली हो। चॉकलेट बच्चे व बड़ो को इसके 60-70 प्रतिशत चॉकलेटी फ्लेवर की वजह से पसंद आती है इसलिए चाव से खाते है।
 
अभिभावक ऋतु जैन बताती है चॉकलेट से दांत खराब हो जाते है। बहुत बच्चों को खांसी हो जाती है।  इसलिए पसंद नहीं करते कि बच्चे चॉकलेट खाए।  मेरी बेटी जेम्स की गोलियां बहुत खाती है। इससे उसके दांत खराब हो गए है कुछ दांतों में कीड़े लग गए है। पर बच्चे मानते नहीं है। 
 
अभिभावक  गौरव सोनी  ने बताया क्रीमी और चॉकलेटी स्वाद के कारण चॉकलेट छोटे बच्चों से लेकर बड़ों तक को पसंद आती है। ज्यादा चॉकलेट खाना नुकसान भी करता है। आजकल चॉकलेट त्यौहारों का हिस्सा बनने लगी है।  चॉकलेट ने ट्रेडिशनल मिठाई की थाली में अपनी जगह बनाई है। 

Other Latest News of Health -

अब तीन-चार दिनों में ही पाएं बत्तीसी

एक अवस्था के बाद जब व्यक्ति के सभी दांत चले जाते थे तो उन्हें दांतों का नया सेट लगवाने और उसका उपयोग करने

14 Sep 13:10 PM

डॉक्टर्स ने बताई फिजियोथैरेपी की महत्ता

महात्मा ज्योति राव फुले विश्वविद्यालय में शनिवार को ‘वर्ल्ड फिजियो डे’ के मौके पर हैल्थ अवेयरनेस सेमिनार का आयोजन किया गया, इसमें गोल्ड मेडिलिस्ट पेरा एथलीट शताब्दी अवस्थी, पद्मश्री एवं अर्जुन अवॉर्ड लिम्बाराम ने विशेष रूप से शिरकत की।

09 Sep 11:35 AM

हाथ की नसों में स्टेंट लगाकर खोले ब्लॉकेज, बचाए मरीज के दोनों हाथ

एक युवती के दोनों हाथ निष्क्रिय और निढ़ाल से हो गए थे। खून का प्रवाह हाथों में ठीक से नहीं हो रहा था, साथ ही पल्स भी नहीं आ रही।

30 Aug 13:25 PM

खराब दांत कर सकते हैं कई गंभीर बीमारियां, ये चीजें हैं घातक

दांतों की साफ सफाई पर ध्यान नहीं देने और विभिन्न खाद्य पदार्थों में मिलावट के चलते बड़े पैमाने पर लोगों में दांतों की बीमारियां देखने को मिल रही हैं।

28 Aug 14:00 PM

सूर्यम लैब ने की मेरा पेशेंट ऐप के साथ साझेदारी

ऑनलाइन हेल्थकेयर स्टार्टअप मेरा पेशेंट ऐप ने सूर्यम डायग्नोस्टिक सेंटर के साथ साझेदारी की है। सूर्यम डायग्नोस्टिक सेंटर के जयपुर में 7 केंद्र हैं, जो मेरा पेशेंट ऐप पर पंजीकृत हैं।

25 Aug 15:00 PM