निमोनिया की वजह से पांच वर्ष से कम उम्र के 70 प्रतिशत बच्चों की मौत - Dainik Navajyoti
Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 18th of December 2018
Home   >  Health   >   News
स्वास्थ्य

निमोनिया की वजह से पांच वर्ष से कम उम्र के 70 प्रतिशत बच्चों की मौत

Monday, November 12, 2018 13:10 PM

जयपुर। निमोनिया व डायरिया की वजह से होने वाली बच्चों की मौतों का आंकड़ा भारत में सबसे ज्यादा है। 2016 में भारत में निमोनिया की वजह से एक लाख 58 हजार 176 और डायरिया की वजह से एक लाख दो हजार 813 बच्चों की मौत हुई थी। साल 2016 के आंकड़ों के अनुसार दुनिया भर में पांच वर्ष से कम आयु के जितने भी बच्चों की मौतें हुईं उनमें हर चार में से एक बच्चा निमोनिया व डायरिया (दस्त) की वजह से मरा था।

10वें विश्व निमोनिया दिवस से पहले इंटरनैशनल वैक्सीन ऐक्सैस सेंटर (आईवीएसी), जॉन्स हॉपकिंस ब्लूमबर्ग स्कूल आॅफ पब्लिक हैल्थ द्वारा निमोनिया एंड डायरिया प्रोग्रैस रिपोर्ट जारी की गई है। इस रिपोर्ट में निमोनिया और डायरिया से मुकाबला करने की दिशा में उन 15 देशों की प्रगति का ब्यौरा प्रस्तुत किया गया है जहां इन बीमारियों से सबसे ज्यादा मौतें होती हैं।

ये है रिपोर्ट
इस रिपोर्ट में यह विश्लेषण किया गया है कि निमोनिया व डायरिया (दस्त) की रोकथाम, इनसे सुरक्षा व इनके उपचार के लिए विभिन्न देश 10 प्रमुख हस्तक्षेप कितने प्रभावशाली ढंग से कर रहे हैं; इनमें शामिल हैं:- स्तनपान, वैक्सीनेशन (टीकाकरण), इलाज तक पहुंच, ऐंटीबायोटिक्स का इस्तेमाल, ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशन (ओआरएस) और जिंक सप्लीमेंटेशन। यह साबित हो चुका है कि ये उपाय इन रोगों से होने वाली मौतों की रोकथाम में मददगार हैं और ये संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) की प्राप्ति में भी सहायक हैं जिनके तहत सन् 2030 तक, पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों की मृत्यु दर को 25 प्रति 1000 जीवित जन्म से कम लाने का लक्ष्य हासिल किया जाना शामिल है।

भारत में भी देखा गया सुधार
वर्ष 2016 में भारत में किसी भी अन्य देश के मुकाबले निमोनिया व डायरिया (दस्त) से मरने वाले पांच साल से कम उम्र के बच्चों की तादाद अधिक रही। इस मुद्दे पर भारत की प्रगति की बात करें तो वह मिश्रित रही है। हीमोफिलस इंफ्लुएेंजा टाइप बी (हिब) वैक्सीन की कवरेज बढ़ाने से और साथ ही रोटावायरस वैक्सीनों के दायरे में बढ़त जारी रखने से पिछले साल इसके नतीजे अच्छे रहे।

 

 

 

Other Latest News of Health -

सर्दियों में बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा

हार्ट अटैक के हिसाब से सर्दियों का मौसम काफी गंभीर माना जाता है। आंकडों की माने तो 50 प्रतिशत से अधिक हार्ट अटैक सर्दियों

06 Dec 12:00 PM

देश के स्वास्थ्य और भविष्य पर हुआ मंथन

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी की ओर से होटल क्लार्क्स आमेर में वार्षिक कार्यक्रम प्रदन्या के 23वें संस्करण का आयोजन हुआ

04 Dec 12:15 PM

फेफड़े के साथ दिल और दिमाग को नुकसान पहुंचाती है COPD

धूम्रपान और प्रदूषण के कारण फैलने वाली खतरनाक बीमारी सी.ओ.पी.डी (क्रॉनिक आॅब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज) फेफड़े ही नहीं, शरीर के दूसरे अंगों को भी बुरी तरह प्रभावित करती है।

22 Nov 11:40 AM

98 साल के इराकी कार्डिक मरीज की सफल ओपन हार्ट सर्जरी

इराक में रहने वाले 98 वर्षीय मोहम्मद कादीम सईद की ओपन हार्ट सर्जरी सफल हो गयी, जिस उम्र में व्यक्ति चलने फिरने लायक नहीं रहता वो मरीज हवाई मार्ग से मेंदाता अस्पताल में आया और उसकी एंजियोग्राफी में उनकी धमनियों में ब्लॉक ब्लड वेसल्स था, जो कि इस उम्र में हो जाता है।

15 Nov 11:10 AM

विश्व में मधुमेह से पीड़ित होने वाला हर पांचवा व्यक्ति भारतीय

डॉ. पीपी पाटीदार वरिष्ठ मधुमेह एवं डायबिटीज रोग विशेषज्ञ जीवन रेखा अस्पताल ने बताया की मधुमेह रोगियों की संख्या दुनियाभर के अंदर सबसे ज्यादा भारत में है।

13 Nov 15:35 PM